…तो बाबा मुख्यमंत्री घण्टा बजा रहे होते : अखिलेश यादव

सरकार बनी तो घर बनाने के लिए दूंगा पांच लाख

अनुराग गुप्ता
जिला संवाददाता

बहराइच। पांचवे चरण के मतदान के चुनाव प्रचार के अंतिम दिन उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री एवं समाजवादी पार्टी के प्रधान अखिलेश यादव ने गेंद घर के मैदान से भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तथा यूपी के मुख्यमंत्री बाबा योगी आदित्यनाथ पर जमकर जुबानी हमला किया। उन्होंने कहा कि हम दो दल से मिल जाये तो महामिलावटी और 38 दलो से भाजपा मिल जाये तो उसे क्या कहेंगे ? सपाध्यक्ष ने कहा कि सपा बसपा रालोद ने भाजपा की ऐसी नींद उड़ा दी है कि उन्हें 2014 के एक भी वादे याद नही आ रहे है। उन्होंने पूछा कि किसानों की कौन सी फसल का मूल्य डेढ़ गुना किया गया। यूरिया की बोरी से पांच किलो यूरिया ही चुरा ली गयी है जबकि पैसा पूरे का ले रहे हैं । गांव-गांव जो गैस सिलेण्डर भेजे गए उसे कोई दोबारा भरा ही नही पाया और उसमें भी घटतौली की गई।प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का भाषण शौचालय से शुरू होता है और शौचालय पर ही खत्म हो जाता है । किसी भी शौचालय में पानी की व्यवस्था है ही नहीं। हमने समाजवादी पेंशन शुरू की थी उसे भी बंद कर दिया गया। दिल्ली सरकार की योजनाए ही गलत है। एक लाख बीस हज़ार में घर नही बन सकता। हमारी सरकार आयी तो चाहे चार पांच लाख रुपये देना पड़े दूंगा। उन्होंने कहा कि जो शौचालय नही बना पाए वो नया भारत क्या बनाएंगे। गठबन्धन सरकार देश को नया प्रधानमंत्री देने जा रहा है जो नया भारत बनाएगा। उन्होंने कहा कि रुपया काला या सफेद नही होता हमारा आपका लेन देन काला सफेद होता है । नोटबन्दी से कौन सा भ्रष्टाचार खत्म हुआ है। गरीबो का पैसा शराब वाला लेकर भाग गया।


सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव ने भाजपा पर नफरत फैलाकर खाई पैदा करने और डराकर राजनीति करने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि इनकी चाय नशे वाली है। यूपी के मुख्यमंत्री पर कटाक्ष करते हुए कहा कि बाबा मुख्यमंत्री कहते है कि संविधान न होता तो ये भैंस चरा रहे होते। उन्होंने कहा कि हम तो गाय भैंस वाले है दूध से काम चला लेंगे पर यदि संविधान न होता तो आप कही घण्टा बजा रहे होते और अब जनता आपको वापस मठ भेजने का मन बना चुकी है । उन्होंने कहा कि बाबा कहते है कानून व्यवस्था ठीक करनी हो तो ठोक दो। मुख्यमंत्री की ठोको नीति हमारे एक एमपी के समझ मे आ गयी और उन्होंने एक विधायक के सर पर 21 जूतों की सलामी दे दी । पूर्व सी एम ने कहा कि गठबंधन का मुख्य उद्देश्य केवल चौकीदार हटाना नही चौकीदार की चौकी छीननी है क्योंकि पांच साल में हर दिन एक जवान शहीद हो रहा है और ये कहते है कि हमने आतंकवाद रोक दिया है। अखिलेश यादव ने कहा कि हमारी गलती थी कि बाबा मुख्यमंत्री की एफ आई आर की कॉपी हमने नही देखी थी अगर अब मौका मिला तो उन पर भी थोड़ी थोड़ी कार्यवाई होती रहेगी । उन्होंने कहा कि बनारस में जो सरकार एक सिपाही से घबरा जाए और उसका नामांकन रद्द करा दे वो आतंकवाद से क्या लड़ेगी। अखिलेश यादव ने सरकार बनने पर बहराइच लखनऊ मार्ग को चौड़ा करने का भी वादा किया है। समारोह स्थल पर उन्हें मुकुट तलवार और गदा आदि भेंट की गई। इस दौरान मंच का संचालन जिलाध्यक्ष लक्ष्मी नारायण यादव ने किया । रैली को सफल बनाने में पूर्व कैबिनेट मंत्री यासर शाह उनके सहयोगी अब्दुल मन्नान, डॉ राजेश तिवारी का बड़ा योगदान रहा।

सांड मारे तो मुख्यमंत्री पर दर्ज होनी चाहिये एफ आई आर


अखिलेश ने हरदोई की एक घटना का जिक्र करते हुए सी एम पर तंज कसा । उन्होंने कहा कि हरदोई में एक सांड मुख्यमंत्री से नाराज हो गया सुरक्षा चक्र तोड़ दिया लेकिन ज्यादा सुरक्षाबल होने के कारण सांड मुख्यमंत्री से नही मिल सका । उन्होंने कहा कि एक सांड कन्नौज में भी आ गया जिसने होमगार्ड को सींग मार दी और वो बैरीकेटिंग के बाहर जा गिरा लेकिन जब उसे बताया कि तुम गलत हेलीपैड पर आ गए हो तो वो चुपचाप चला गया । भाजपा से आदमी के साथ जानवर भी दुखी है । सांड से लोग मर रहे हैं । पुलिस बताए कि सांड के मारने पर किस पर एफ आई आर दर्ज कराएं । होना तो यह चाहिये कि अगर सांड मार दे तो मुख्यमंत्री पर एफ आई आर होना चाहिए ।

Please follow and like us:
error

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *